Tuesday, 27 August 2013

EGO ARROGANCE HAUGHINESS

कुछ  लोग जो ज्यादा  जानते हैं, इंसान  को कम पहिचानते  हैं।

"मैं" सही हूँ तुम हो गलत इस बात पर अकड दिखाते  हैं ।

कुछ लोगों का  ego  इतना  प्रबल  होता है  कि  वे किसी  दुसरे  व्यक्ति   के  विचार  सुनने   का भी सामर्थ्य  नहीं  रखते  । अपनी बात रखने  के लिए वे तर्क वितर्क करते हैं  बहुत  argument  भी  देते  हैं  परास्त  करनेके लिए   ।

हे राम  बचाना ऐसे  लोगों  से  , दूर ही  रहें  इनसे  ।

Because they think that they are more  important than other people. Please  leave  Ego .

ईगो  छोडो  ईगो  छोडो इगो छोडो ईगो छोडो
ईगो एक नशा  है  इसे छोड़ कर  देखो , जीवन को थोड़ा  मोड़ कर देखो  ।
ईगो की वजह  से  है  सारे  विवाद , ईगो की वजह से हैं दंगे  फसाद  ।
ईगो के   कारण  बिगडती  है बात , ईगो  के  कारण  से  ही  होते  हैं  तलाक ।   
ईगो  तो है  लाठी  इसे   तोड़  कर  तो  देखो , जीवन को  थोड़ा  मोड़ कर देखो  ।
किसी को  झुकाना हो तो झुकना  पड़े , रोक्नाहो  किसी को तो रुकना पड़े
अवसर को हाथ से  निकलने  न  दो  , कहीं  ऐसा न हो आगे जाकर टूटना पड़े
दूरियाँ  घटेंगी हाथ जोड़ कर देखो , जीवन को  थोड़ा  मोड़ कर तो देखो 
दौडोगे तो बंद पड़े रास्ते  खुलें , खूशीयों  के द्वार  तेरे  वास्ते  खुलें
बाधा बनोगे  तो बाधा मिलेगी , मोहन  बनोगे  तो राधा मिलेगी
राधा  मोहन जैसा  रिश्ता जोड़ कर तो  देखो  , जीवन को  थोड़ा मोड़  कर तो  देखो।  ।

No comments:

Post a Comment